नई ऊर्जा के साथ अब मैदान में उतरेगा कांग्रेस सेवादल

राष्ट्रीय जनमोर्चा ब्यूरो
– किसानों ,बेरोजगारी, भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर नवयुवकों पर होगा फोकस
गाजियाबाद। कांग्रेस का जमीनी मोर्चा कांग्रेस सेवादल अब पूरे दमखम के साथ मैदान में उतरेगा। इसके लिए पार्टी हाईकमान से लेकर सेवादल हाईकमान तक गंभीर दिख रहे हैं। इस बात पर गंभीर मंथन चल रहा है कि आखिर पार्टी के इस कैडर संगठन को कैसे और मजबूती के साथ मैदान में उतारा जाए और इसके जरिये कैसे जनहित के मुद्दों को पहुंचाया जाए।
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस सेवादल कांग्रेस पार्टी का वह जमीनी मोर्चा (कैडर संग़ठन) है जिससे कभी अंग्रेज भी खौफ खाया करते थे। सेवादल ने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ लंबा संघर्ष किया था। 28 दिसंबर 1923 को इस मोर्चे का गठन स्वतंत्र रूप से हुआ था। बाद में इसे कांग्रेस से जोड़ दिया गया। संगठन कितना अनुशासित और जज्बे के लिए जाना जाता है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 1959 में पंडित जवाहरलाल नेहरू नासिक अधिवेशन में शामिल होने के लिए गए थे लेकिन वहां तैनात मोर्चा के सैनिक कमलाकर शर्मा ने उन्हें गेट पर ही रोक दिया था जिस पर पंडित जवाहरलाल नेहरू ने कमलाकर शर्मा से कहा था कि क्या आप मुझे जानते नहीं। कमलाकर शर्मा ने कहा था कि मैं आपको जानता हूं लेकिन आप अनुशासन तोड़ रहे हैं। आपने अभी तक बेज नहीं लगा रखा है। इसके बाद पंडित नेहरू ने बेज लगाया, तभी उन्हें प्रवेश दिया गया।
यह संगठन फौजी अनुशासन और जज्बे के लिए जाना जाता है ।इसका संचालन भी बिल्कुल फौजी तरीके से किया जाता था। डॉ राजेंद्र प्रसाद सुभाष चंद्र बोस राजगुरु जैसी शख्सियत भी एक जमाने में सेवादल से जुड़े रहे थे। यहां तक कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने पुत्र राजीव गांधी को भी सेवादल के माध्यम से ही कांग्रेस पार्टी में एंट्री कराई थी लेकिन पिछले कुछ वर्षों में कांग्रेस की कमजोरी के साथ-साथ सेवादल भी कुछ कमजोर हो गया। इतिहास गवाह है कि जब-जब कांग्रेस मजबूत हुई है, उसके पीछे सेवादल ही प्रमुख बेस ररहा है। अब पार्टी हाईकमान ने सक्रियता दिखाते हुए इस संगठन को जमीनी स्तर पर ले जाने के लिए कमर कस ली है।
सेवा दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल जी देसाई कहते हैं कि कांग्रेस सेवा दल सेवक आम लोगों जनता की सेवा के लिए जाना जाता है, इसलिए जब भी मौका पड़ता है, कोई आपदा आती है तो कांग्रेस सेवा दल के कार्यकर्ता खड़े मिलते हैं और पूर्ण मनोयोग से पीडि़तों की सेवा करते हैं। अब संगठन को और सक्रिय किया जा रहा है ।
कांग्रेस सेवा दल के नवनियुक्त राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी आजाद खालिद कहते हैं कि कांग्रेस सेवा दल जमीनी स्तर पर जुड़ा हुआ एक संगठन है। अब आम जनता में जागरूकता फैलाने के लिए उसकी सेवा करने के लिए संगठन अपने तमाम कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ मिलकर काम करेगा। उन्होंने बताया कि पार्टी हाईकमान के निर्देश पर जो संगठन के पुराने लोग हैं, समर्पित लोग हैं, उनको सम्मान के साथ मैदान में उतारा जाएगा और नए लोगों की टीम भी खड़ी की जाएगी। आज की नवजवान पीढ़ी को यह बताया जाएगा की कांग्रेस और सेवा दल का देश को आज़ाद कराने और विकसित करने पर कितना बड़ा योगदान रहा है। इतना ही नहीं सेवादल आम लोगों की सेवा करने में भी पीछे नहीं रहेगा।सेवादल अभी भी जनसेवा के कार्य जैसे प्रकृतिक आपदा के दौरान लोगों की सहायता करना, लजरूरतमंदों के लिए ब्लड डोनेट करना जैसे कार्य करता आया है और आगे भी करेगा।
उनका कहना है कि नवजवान पीढ़ी को इसके लिए प्रेरित भी करेगा। अब सेवादल अपने कैडर को और मजबूती देने के लिए रणनीति बना रहा है तथा बेरोजगारी, किसानों की समस्या, महंगाई, कानून व्यवस्था, महिला उत्पीडऩ जैसे गम्भीर मामलों को जनता के बीच ले जाने का काम सेवादल करेगा। कांग्रेस पार्टी के जो अन्य फ्रंट ऑर्गनाइजेशन हैं, उनके साथ भी समन्वय स्थापित करके कांग्रेस पार्टी में सेवादल को मजबूत किया जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*