नागरिकता कानूनः दक्षिणी दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन, बसों में लगाई आग, 4 मेट्रो स्टेशन पर एंट्री, एग्जिट बंद

नागरिकता कानून के खिलाफ आज दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन हुआ। प्रदर्शनकारियों ने दक्षिण दिल्ली में विरोध के दौरान कई बसों में आग लगा दी। जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

नई दिल्ली
राजधानी दिल्ली में नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन रविवार को भी जारी है जिसने हिंसक रूप धारण कर लिया है। प्रदर्शनकारियों ने साउथ दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में जमकर तांडव मचाया। 3 बसों और कुछ मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया। आग बुझाने के लिए तत्काल 4 दमकल वाहनों को भेजा गया लेकिन उग्र प्रदर्शनकारियों ने एक दमकल वाहन को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। 2 दमकलकर्मी जख्मी भी हुए हैं। इस बीच, दक्षिण दिल्ली के चार मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट बंद कर दिया गया है।

पुलिस से झड़प के बाद उग्र हो गए प्रदर्शनकारी
रविवार को बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने जामियानगर से ओखला की तरफ मार्च निकाला। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों में जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स भी शामिल थे। इस दौरान पुलिस के साथ उनकी झड़प हो गई, जिसके बाद प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और आगजनी करने लगे।

फायरब्रिगेड के 2 कर्मचारी भी जख्मी
पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनाकरियों ने पथराव कर कुछ बसों के शीशे भी तोड़ दिए और फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया। हाथों में तिरंगा और प्लेकार्ड लिए प्रदर्शनकारी नए नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। इस प्रदर्शन के कारण सड़क यातायात प्रभावित हुआ।

फायरब्रिगेड के 2 कर्मचारी भी जख्मी
पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनाकरियों ने पथराव कर कुछ बसों के शीशे भी तोड़ दिए और फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया। हाथों में तिरंगा और प्लेकार्ड लिए प्रदर्शनकारी नए नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। इस प्रदर्शन के कारण सड़क यातायात प्रभावित हुआ।

4 मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट गेट बंद
हिंसक प्रदर्शनों का सड़क यातायात के साथ-साथ मेट्रो सेवा पर भी असर पड़ा है। दिल्ली मेट्रो ने ट्वीट कर बताया कि दिल्ली पुलिस की सलाह के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया, ओखला विहार और जसोला विहाल शाहीन बाग मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट बंद कर दिया गया है। इस स्टेशन पर कोई मेट्रो ट्रेन नहीं रूक रही है। इसके अलावा आश्रम मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 3 को भी बंद कर दिया गया है।

असम, पश्चिम बंगाल समेत कई जगहों पर हो रहे हैं उग्र प्रदर्शन
बता दें कि नए नागरिकता कानून के अस्तित्व में आने के बाद से ही विरोध-प्रदर्शनों का दौर जारी है। प्रदर्शन का व्यापक असर पूर्वोत्तर के राज्यों और पश्चिम बंगाल में देखने को मिल रहा है। असम और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाके में इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं। दोनों राज्यों में हिंसक प्रदर्शन देखने को मिले हैं।

राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को भी हिंसक प्रदर्शन हुआ था। हिंसा तब भड़की थी जब जामिया मिलिया इस्लामिया के स्टूडेंट्स को पुलिस ने बीच मार्च रोक लिया। वे कानून के विरोध में यूनिवर्सिटी से संसद की तरफ मार्च करने वाले थे। दोनों के बीच हिंसक झड़प हुई जिसमें पुलिसकर्मी और स्टूडेंट्स दोनों घायल हुए।

1 Comment

1 Trackback / Pingback

  1. films year 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*