नशे के खिलाफ महिला उन्नति संस्था ने बुलंद की आवाज

  • राष्ट्रीय जनमोर्चा संवाददाता
  • संस्था के अध्यक्ष ने अंतराष्ट्रीय एजुकेशन हब की छवि पर नशे को बताया काला धब्बा, जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
    गौतमबुद्ध नगर। जिले में नशे के बढ़ते कारोबार से अंतराष्ट्रीय एजुकेशन हब की छवि पर जहां काला धब्बा लग रहा है, वहीं इस जिले के युवकों को यह अपने जाल में फंसाता जा रहा है। यह कहना है सामाजिक संगठन महिला उन्नति संस्था (भारत) के संस्थापक डॉ राहुल वर्मा का। आज उनकी टीम ने नशे के खिलाफ एक मुहिम चलाते हुए इस संबंध में जिलाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा और इस जहरीले जाल पर नियंत्रण करने की मांग की।
    गुरुवार को महिला उन्नति संस्था (भारत) के सदस्यों ने उप जिलाधिकारी रजनीकांत को जिलाधिकारी गौतमबुद्ध नगर के नाम ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से संस्था का कहना है कि गत दिनों जिले में नशीले पदार्थों की कई खेप पकड़ी गई है। इससे पता चलता है कि यहां की आबोहवा नशे की गिरफ्त में है जो अंतराष्ट्रीय स्तर पर नोएडा-ग्रेटर नोएडा के एजुकेशन हब की छवि पर काले धब्बे की तरह है। क्षेत्र के युवाओं में नशे की लत का बढ़ना चिंता का विषय है। यदि जल्द ही इस पर नियंत्रण नही किया गया तो इसके परिणाम बेहद गंभीर होंगे। संस्था ने नशे के इस काले कारोबार पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।
    डॉ वर्मा और उनकी टीम ने गुरुवार को ‘राष्ट्रीय जनमोर्चा’ के संपादक से भी मुलाकात की। इस भेंट वार्ता में उन्होंने कहा कि पता चला है कि दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश में नशे की बड़ी तस्करी हो रही है। ऐसा कोई दिन नहीं होता है जिस दिन नशा जिले की सीमाओं से सप्लाई नहीं होता है। हैरानी की बात यह है कि अन्य प्रदेशों से जो नशा ला रहे हैं, वह अलीगढ़ और बुलंदशहर के नशा माफिया हैं। ये माफिया नोएडा, गौतमबुद्धनगर, दिल्ली, मेरठ, अलीगढ़, गाजियाबाद आदि स्थानों पर सप्लाई करते हैं। नशे की प्रवृत्ति अधिकतर युवाओं और छात्रों में बढ़ रही है। इस पर जल्द ही रोक नहीं लगाई गई और शासन-प्रशासन के साथ-साथ आम लोग नशे के विरोध में सक्रिय नहीं हुए तो परिणाम और भी चिंताजनक हो सकते हैं।
    महिला उन्नति संस्था (भारत) के महासचिव अनिल भाटी ने चेतावनी देते हुए कहा है कि दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते नशे के काले कारोबार से हमारी युवा पीढ़ी तबाह और बर्बाद हो रही है। इसके बावजूद सामाजिक संगठन और संस्थाओं ने आंखें बंद कर रखी हैं। हमें अगर अपने शहर-नगर को नशमुक्त करना है तो इस जहर के खिलाफ लोगों को जागरूक करना होगा। साथ ही जरूरत पड़ी तो धरना-प्रदर्शन भी करना होगा। ज्ञापन देने वालों में विजय तंवर और जहीर सैफी आदि सदस्य भी मौजूद रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*