बढ़ती बेरोजगारी व मंहगाई पर RVP के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अनूप श्रीवास्तव ने सरकार को घेरा

जितेन्द्र बच्चन
वर्चुअल बैठक में पत्रकारों, वकीलों और स्वास्थ कर्मचारियों के लिए भी संघर्ष करने की घोषणा
नई दिल्ली। राष्ट्रवादी विकास पार्टी (RVP) ने देश-प्रदेश की राजनीति में खुद की मजबूत दावेदारी प्रस्तुत करने की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अनूप कुमार श्रीवास्वत ने रविवार को एक वर्चुअल बैठक के माध्यम से कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के परिदृश्य में अधिकतर राजनीतिक पार्टियां सत्ता के लालच में अपने चुनावी वादों को भूलकर सिर्फ जनता के शोषण व भ्रष्टाचार में लिप्त हो चुकी हैं। उन्होंने सरकार को भी घेरने की कोशिश की और कहा कि गलत नीतियों के चलते आज चारों तरफ बेरोजगारी और मंहगाई बेतहासा बढ़ रही है। इसके चलते भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो रही है। किसान सड़कों पर प्रदर्शन करने को मजबूर हैं और पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है।
डॉ श्रीवास्तव ने कहा कि राष्ट्रवादी विकास पार्टी का उद्देश्य है- ‘न जाति न धर्म, सबसे पहले देश हमारा। न प्रांत न भाषा, सबसे पहले देश है प्यारा।’ इसी सोच के अनुरूप राष्ट्रवादी विकास पार्टी लगातार आगे बढ़ रही है। उन्होंने पार्टी का लक्ष्य ‘स्वस्थ भारत, सशक्त भारत और समृद्ध भारत’ बताया और इस सपने को साकार करने पर जोर देते हुए कहा कि यह तभी संभव होगा जब हम सभी अपनी-अपनी जिम्मेदारी का ईमानदारी पूर्वक निर्वहन करेंगे। डॉ श्रीवास्तव ने कहा कि उनकी पार्टी जनमानस के साथ-साथ वकीलों, पत्रकारों और कोविड के वजह से अपने जीवन से हाथ दो रहे स्वास्थ कर्मचारियों की लड़ाई भी लड़ेगी। सत्ता के माध्यम से उनको वे सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी जिनसे आज तक ये लोग वंचित रहे हैं।
दरअसल, उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राष्ट्रवादी विकास पार्टी ने रविवार, 6 जून को एक वर्चुअल बैठक का आयोजन किया था। यह बैठक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अनूप कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सफल बताई गई है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को देश-प्रदेश की राजनीति में अपनी पूरी पकड़ बनाने के लिए सन्देश दिया कि आने वाले समय में राष्ट्रवादी विकास पार्टी जन समस्याओं के निदान व राष्ट्रवादी सोच के साथ जनमानस के बीच जाएगी और प्रदेश व देश की राजनीति में अपनी मजबूत दावेदारी कैसे प्रस्तुत करेगी। इसकी रूपरेखा भी उन्होंने तय करते हुए कहा कि पार्टी को मजबूत करने के लिए सभी को अपनी-अपनी जिम्मेदारी निभानी पड़ेगी। डॉ श्रीवास्तव ने सभी को ग्रासरूट पर जाकर स्थानीय समस्याओं के निदान का प्रयास करने की आवश्यकता पर बल दिया और जिला स्तर व बूथ लेबल तक अपने कार्यकर्ताओं को तैयार करके पार्टी से जोड़ने का आवाहन भी किया है।
महिलाओं की सहभागिता की वकालत:
महिला प्रकोष्ठ की राष्ट्रीय अध्यक्ष किरन श्रीवास्तव ने पार्टी को आगे बढ़ाने व जनमानस में उपस्थिति दर्ज कराने के लिए घरेलू महिलाओं की समस्याओं के समाधान की जरूरतों पर बल दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी को आगे ले जाने के लिए अधिक से अधिक महिलाओं की उपस्थिति व सहभागिता सुनिश्चित करनी पड़ेगी।
उच्चस्तरीय कमेटी का गठन:
पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) ब्रिगेडियर अनिल कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि RVP सर्व धर्म, सर्व समुदाय और सर्व जाति सम्पन्न पार्टी है। इसमे सभी धर्मों व समुदायों को उनकी धार्मिक मान्यताओं व विचारों के साथ स्वागत किया जाता है और सम्मान दिया जाता है। ब्रिगेडियर श्रीवास्तव ने यह भी बताया कि लखनऊ के पार्थ श्रीवास्तव प्रकरण में समयानुसार परिजनों को न्याय दिलाने के लिए पार्टी की ओर से एक उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया गया है।
पात्र नागरिकों को दिलाएंगे 15 लाख की आर्थिक सहायता:
पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव ने कहा कि राष्ट्रवादी विकास पार्टी आने वाले समय में समस्त देशवासियों को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराएगी और समस्त पात्र नागरिकों को शर्तों के साथ 15 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराएगी। अन्य वक्ताओं ने भी पार्टी को जमीनी स्तर पर मजबूत करने पर बल दिया और जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को उठाने तथा उसके निदान के लिए प्रयास करने पर बल दिया। इसके अलावा बूथ लेबल पर पार्टी को मजबूत करने पर जोर दिया गया।
बैठक में इन वक्ताओं ने भी रखे अपने विचार:
वर्चुअल बैठक का संचालन कोकॉर्डिनेटर रुपेश जौहरी ने किया। उनके अलावा प्रियंका श्रीवास्तवा, अभिषेक अरोरा, अजय कुमार सिंह, अमित कुमार, अजय श्रीवास्तव, संदीप, राहुल श्रीवास्तव, विमला, राष्ट्रीय प्रवक्ता अश्वनी श्रीवास्तव, राकेश, प्रदेश अध्यक्ष पूर्वी रजनीश श्रीवास्तव, बिहार प्रदेश महासचिव प्रियरंजन आदि ने भी अपने-अपने विचार रखे। सभी ने पार्टी की इस ऑनलाइन बैठक का स्वागत किया और सत्ता नहीं जन सेवा की भावना से जनता के बीच अपनी पहचान बनाने पर बल दिया।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*